aside वकालत से संगीत तक का सफर, हारुन चंडी की राजस्थान से मुंबई यात्रा


दुनिया के विभिन्न कोनो से लोग अपनी किस्मत आजमाने मुंबई आया करते हैं. और इस में फिल्मी दुनिया का आकर्षण एक बड़ा कारण होतो है. हजारों लोग अपने सपने लेकर मुंबई आते हैं पर उनमें से चंद लोगों को ही सफलता हासिल हो पाती है.

ऐसे ही चंद भाग्यशाली लोगों में से एक हैं, हारुन चंडी. एलएलबी की पढ़ाई करते हारुन के मुबई की संगीत की दुनिया में अपनी काबिलियत दिखाने मुबई आए हारुन के थोड़े ही दिनों में सफलता की सीढ़ियां चढ़ने का सौभाग्य मिल गया.

19 अप्रैल 2003 को राजस्थान में जन्मे हारुन चंडी अपनी सफलता के लिए लगातार प्रयास करते रहे हैं. साथही अपनी पढ़ाई को भी जारी रखे हुए हैं. हारुन को भारतीय संगीत के साथ ही विदेशी संगीत में भी रुचि है. इसी कारण हारुन चंडी अंग्रेजी गीतों पर ज्यादा ध्यान दे रहे हैं.

अपनी इस यात्रा में परिवार का पूरा समर्थन लिए हारुन एक गाने पर परफार्म भी करने जा रहे हैं. हारुन को सफलता की शुभकामनाऐं.

(भोजपुरी तड़का)

Share Button