चैलेंज एक संपूर्ण फिल्म है – सतीश जैन


छत्तीसगढ़ की फिल्मों में अपना डंका बजाने के बाद भोजपुरी में भी छा गये निर्देशक सतीश जैन। उनकी नयी फिल्म का नाम है चैलेंज। यशी फिल्म्स प्रस्तुत चैलेंज में पहली बार भोजपुरी सुपरस्टार पवन सिंह को निर्देशित करने वाले सतीश जैन की ये पहली एक्शन पैक्ड फिल्म है। भोजपुरी की कामयाब फिल्म निरहुआ हिन्दुस्तानी और निरहुआ रिक्शावाला-2 देने वाले सतीश जैन चैलेंज को लीक से हटकर बनी एक भोजपुरी फिल्म मानते हैं। प्रस्तुत है सतीश जैन से बातचीत के मुख्य अंश :

आप द्वारा निर्देशित चैलेंज प्रर्दशन से पहले ही काफी सराहना पा रही है। आप इसे किस नजरिए से देखते हैं?
मेरी नजर में ‘चैलेंज बहुत ही महत्वपूर्ण भोजपुरी फिल्म है। महत्वपूर्ण इसलिए क्योंकि जिस तरीके से कहानी कही गई है, वह वर्ल्ड क्लास है। चैलेंज के बारे में मैं यह दावे के साथ कह सकता हूं कि मैने इसमें इमानदारी दिखायी है। क्योंकि हमारे देश में लोकतंत्र है और यहां एक निर्देशक अपनी बात कहने की छूट रखता है। वी शुड बी प्राउड आफ इट। दुनिया में बहुत से मुल्क ऐसे हैं जहां अपनी बात कहने पर प्रतिबंध झेलना पड़ता है और जेल से लेकर फांसी तक हो जाती है। लेकिन हम लोग गौरवान्वित हैं कि हमारे देश में अलग-अलग मत के लिए जगह है।

क्या चैलेंज भोजपुरी फिल्मों की वर्तमान छवि को तोड़ेगी?
चैलेंज निश्चित ही परंपरागत छवि को तोड़ेगी मगर हदें कभी नहीं लाघेंगी। इस फिल्म के जरिये युवाओं को एक संदेश भी दिया गया है। सवाल तो किसी पर भी उठाया जा सकता है। अगर आप पेंटर हैं और आइल पेंट इस्तेमाल करते हैं तो आप पूछ सकते हैं कि आइल की क्या जरूरत है, चारकोल से हो सकता है। चारकोल उठाएंगे तो आप कहेंगे वाटर कलर से हो सकता है। तो ये एक आध्यात्मिक या यूं कहिए इंटेलक्चुअल किस्म का सवाल है। जिसके बारे में मैं ज्यादा कुछ नहीं कहना चाहूंगा। मैं सिर्फ यह मानता हूं कि हम लोग अपने-अपने तरह से अपनी बात कहना जानते हैं। जरिया कुछ भी हो सकता है।

आपकी अपनी पृष्ठभूमि भी बड़ी रोचक है। इसे कैसे बयां करेंगे?
ये एक दिलचस्प कहानी है । मेरी छत्तीसगढ़ी फिल्म लैला टीप टॉप छैला अंगूठा छाप सुपर हिट हुई थी और उसे भोजपुरी में डब किया गया था । मुम्बई के फिल्म वितरक राजेश पप्पू ने फिल्म को रिलीज किया था । उन्होंने फिल्म देखने के बाद दिनेश लाल यादव निरहुआ से इस फिल्म की चर्चा की तो निरहुआ ने भी उस फिल्म को देखा । फिल्म देखने के बाद हमारी उनसे मीटिंग तय हुई और उन्होंने इस फिल्म को भोजपुरी में बनाने की बात कही । फिल्म के निर्देशन और लेखन की जिम्मेवारी मुझे दिया गया । निरहुआ हिन्दुस्तानी नाम की इस फिल्म के लेखन में संतोष मिश्रा ने मेरी मदद की और उसे भोजपुरिया रंग में रंग दिया । फिल्म रिलीज हुई और जबरदस्त सफल हुई । इस फिल्म के तुरत बाद ही निरहुआ रिक्शा वाला 2 के निर्माण की घोषणा कर दी गयी ।

चैलेंज की इन दिनों काफी चर्चा है किस तरह की फिल्म है ?
नाम सुनकर सबको एहसास होगा की यह एकएक्शन फिल्म है लेकिन मेरी नजर में यह एक सम्पूर्ण फिल्म है । इस फिल्म का केंद्र ए्क्शन तो है लेकिन उसके इर्द गिर्द मनोरंजन का हर मसाला है जिसे हर उम्र और हर वर्ग के दर्शक देख कर फिल्म का लुत्फ उठा सकते हैं । चैलेंज एक अच्छी कहानी पर बनी एक ऐसी फिल्म है जिसे देखकर दर्शको को लगेगा की यह तो हमारे घर की, पड़ोस की और गाँव की कहानी है ।

फिल्म के किरदारों के बारे में बताइये ?
चैलेंज आप देखेंगे तो आपको लगेगा की कोई भी किरदार अभिनय नहीं कर रहा बल्कि हर किरदार खुद को अभिनय में जी रहा है । पवन सिंह, मधू शर्मा, समीर आफताब, शिविका दिवान हो या बाकी के कोई भी किरदार सबने अपना स्वाभाविक अभिनय किया है । पवन सिंह जी के बारे में लोग कहते थे वे बहुत परेशान करते हैं , समय पर सेट पर नहीं आते मगर मेरी फिल्म के सेट पर वे हमेशा समय पर आये और मुझे कभी भी परेशान नहीं किया। मैं यहाँ समीर आफताब का भी जिक्र जरूर करना चाहूँगा । उनकी जितनी तारीफ की जाय कम है। वे एक बेहतरीन और हमेशा हंसाने वाले मगर काम को लेकर पक्के इंसान हैं।

इस परिपेक्ष में चैलेंज को आप कितना मार्क्स देंगे ?
किसी भी फिल्म को जज करने का अधिकार सिर्फ दर्शको को है। अपना बच्चा हर किसी की प्यारा होता हैं। मैं भले ही दर्शक के नजरिये से देखूं तब भी मुझे मेरी फिल्म की खामिया मुझे नजर नहीं आएगी । मैंने चैलेंज को मेरी पिछली फिल्मो से बेहतर बनाने की पूरी कोशिश की है । मेरे निमार्ता अभय सिंहा और मेरे सभी कलाकार का मुझे भरपूर सहयोग मिला है । मुझे पूरा भरोसा है की चैलेंज दर्शको को बहुत पसंद आएगी ।

इस फिल्म चैलेंज के निर्माता अभय सिंहा के बारे में क्या कहेंगे?
अभय सिंहा जी आज भोजपुरी सिनेमा को नयी दिशा देने वाले निर्माता के रुप में पहचाने जाते हैं। वे कभी भी निर्देशक के उपर दबाव नहीं देते हैं। मुझे याद है भूज में जब इस फिल्म चैलेंज की शूटिंग कर रहा था तो एक कालेज की जरुरत थी। उन्होने भुज का जो सबसे बड़ा कालेज है वो उपलब्ध करवा दिया। इस फिल्म के लिये दुबई में गाने की शुटिंग की जरुरत थी। उन्होने दुबई में भी फिल्म की शूटिंग का इंतजाम करवा दिया।

फिल्म के नायक पवन सिंह जी की तो आपने तारीफ कर दिया लेकिन फिल्म की नायिका मधु शर्मा जी के बारे में क्या कहेंगे?
मधु जी कमाल की अदाकारा है। वे जानती है कि बेस्ट से बेस्ट सीन कैसे किया जाता है। साउथ की दर्जनों फिल्में कर चुकीं मधु शर्मा ने कमाल की एक्टिंग कि है इस फिल्म चैलेंज में। मधु भोजपुरी फ़िल्मों की सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री हैं।

शिविका दिवान के बारे में क्या कहेंगे?
शिविका काफी सुलझी और समझदार कलाकार हैं।

आपकी फिल्मों के गीत काफी लोकप्रिय होते हैं। क्या चैलैंज के गीत भी निरहुआ हिन्दुस्तानी और निरहुआ रिक्शावाला २ की तरह कामयाब होंगे?
बिल्कुल । चैलेंज का कर्णप्रिय संगीत दिया है छोटे बाबा , गोविन्द ओझा और पंकज तिवारी ने । गीतकार हैं प्यारेलाल यादव, मनोज मतलबी और श्याम देहाती । इस फिल्म का गीत अभी से लोगों की जुबान पर चढ़ गया है।

फिल्म के बाकी कलाकारों और तकनिकी टीम के बारे में क्या कहेंगे?
यशी फिल्म्स के अभय सिन्हा प्रस्तुत इस भोजपुरी फिल्म चैलेंज का निर्माण अंकुर प्रसाद, अंशुमान सिंह और समीर आफताब ने एक साथ किया है। जबरदस्त एक्शन से भरी इस फिल्म में पवन सिंह और समीर आफताब का एक्शन ऐसा होगा कि लोग लंवे समय तक इस फिल्म को याद रखेंगे। भोजपुरी फिल्म चैलेंज को कैमरे में खुबसुरती से कैद किया है डीओपी वासू ने जबकि सहयोगी निर्माता हैं रंजीत सिंह और मड्ज मूवी कंपनी। इस फिल्म में भोजपुरी सुपरस्टार पवन सिंह, मधू शर्मा, समीर आफताब, शिविका दिवान, एहशान खान, राज प्रेमी, माया यादव, मेहनाज श्राफ, नितिका जायसवाल, चंदन शाहू, आनंद मोहन, ज्योति कलश, अंकुर प्रसाद, अभय सिन्हा, गोपाल राय, सुर्या द्विवेदी, करण पांडे , संजय वर्मा, अनुप लोटा, सी. पी . भट्ट, दिनेश ब्रिगेडियर, धंनजय, स्वीटी सिंह, आर. आर भोजपुरी, शिशिर कुमार, आकाश और अतुल की मुख्य भूमिका है


(शशिकांत सिंह)