भुपेन्द्र विजय सिंह ला रहे हैं – पाकिस्तान में जयश्रीराम

भुपेन्द्र विजय सिंह ला रहे हैं – पाकिस्तान में जयश्रीराम

बीते साल 2016 की सबसे बड़ी कामयाब फिल्म गदर का शुरूर अभी दर्शको के दिलो दिमाग से उतरा नहीं है. इसी बीच इस फिल्म के निर्माता भुपेन्द्र विजय सिंह और बबलू एम गुप्ता ला रहे हैं एक और भोजपुरी फिल्म – पाकिस्तान में जय श्रीराम. इस फिल्म का नाम ही बताता है कि इस फिल्म की कामयाबी भी दर्शकों के सिर चढ़कर बोलेगी. पाकिस्तान में जयश्रीराम फिल्म को निर्देशित किया है गदर के ही निर्देशक रमाकांत प्रसाद ने.
राजपूत फिल्म्स फैक्ट्री के बैनर तले बनी इस भोजपुरी फिल्म में विक्रांत और मोनालिसा की जोड़ी कहर बरपायेगी. संगीत और संवाद भी तैयार किया है खुद रमाकांत प्रसाद ने. फिल्म को खुबसुरती से कैमरे में कैद किया है राम के.सी. और इमरान ने. जबरदस्त मारधाड़ से भरी इस फिल्म के एक्शन को डायरेक्ट किया है हीरा यादव ने जबकि फिल्म के कार्यकारी निर्माता हैं गौरव सिंह. फिल्म के नृत्य निर्देशक हैं संजय कोरबे, ज्ञान सिंह और मोना किट्टी. कथा पटकथा वीरू ठाकुर और सरोज पंडित ने तैयार किया है.
इस फिल्म में बिग बास और नच बलिये फेम विक्रांत सिंह राजपूत तथा मोनालिसा के अलावा नेहा सिंह, अवधेश मिश्रा, हीरा यादव, धामा वर्मा, बाल गोविंन्द बंजारा, प्रेम प्रधान, उल्हास कुडवे और सोनिया मिश्रा की मुख्य भूमिका है.
फिल्म का संगीत जारी किया है वीनस ने. इस फिल्म को लेकर निर्माता भुपेन्द्र विजय सिंह और उनकी पूरी टीम उत्साह में है. खुद भुपेन्द्र विजय सिंह कहते हैं –

पूरे विश्व में जयश्रीराम होना चाहिये – भुपेन्द्र विजय सिंह

भुपेन्द्र जी आपको नहीं लगता कि आपकी फिल्म पाकिस्तान में जय श्रीराम विवाद पैदा कर सकती है?
श्रीराम मर्यादा पुरुषोत्तम हैं, सिर्फ पाकिस्तान ही नही पूरी दुनिया मे जय श्री राम होना चाहिए, इसमे किसी को कोई आपत्ति या विवाद होने की कोई गुंजाइश ही नहीं है.

गदर और पाकिस्तान में जयश्री राम के बीच एक साल का समय क्यों ?
मेरी कोशिश है कि मेरी राजपूत फिल्म्स फैक्ट्री मे रोल्स रॉयस बने, नैनो नहीं, इसलिए पूरी तैयारी के साथ ही जय श्री राम शुरू की थी, ईद पर गदर रिलीज रिलीज हुई थी. मानसून मे शूटिंग संभव नहीं होती और सर्दियों मे हमने जय श्री राम शूट की, बीच मे मोनालिसा के बिग बॉस मे जाने और नोट बंदी की वजह से थोड़ा व्यवधान हुआ और इस फिल्म का वीएफएक्स भारत से बाहर किया गया है तो रिलीज में भी थोड़ा समय लग गया.

इस फिल्म के बारे में बताईये?
पाकिस्तान मे जय श्री राम आज के सामाजिक मूल्यों पर आधारित एक प्रेम कहानी है, कैसे एक छिछोरा लड़का अपने देश और अपने प्रेम के लिए हर हद पार कर जाता है, यह उसकी कहानी है.

गदर सनी दियोल की याद दिलाती थी. पाकिस्तान में जय श्रीराम किसकी याद दिलायेगी ?
पाकिस्तान मे जय श्री राम आपको अपने पूर्वजों से मिले संस्कार और आदर्शों की याद दिलाएगी, शहीद ए आजम भगत सिंह और अशफाकुल्लाह खान के संकल्प की याद दिलाएगी, वीर अब्दुल हमीद और विक्रम बत्रा के बलिदान की याद दिलाएगी.

इस फिल्म के संगीत के बारे में बताईये.
इस फिल्म का संगीत इसके निर्देशक रमाकान्त प्रसाद ने ही दिया है, सच ये है कि रमाकान्त जी को संगीत का जिम्मा देते वक़्त मै खुद भी नर्वस था, मगर जब आप इसका टाइटल सांग सुनेंगे तो कई दिनों तक सुनते ही रहेंगे और यही इसका यूएसपी होगा.

पाकिस्तान में जयश्रीराम के प्रदर्शन की क्या तैयारी है?
पाकिस्तान मे जय श्री राम का प्रदर्शन निर्देशक के मुताबिक होली मे होना था, मेरे विचार से रामनवमी मे होना था पर अब यह श्रीराम की इच्छानुसार 5 मई को रिलीज होगी.

गदर टू की भी प्लानिंग बन रही थी उसका क्या हुआ?
इसके लिए मै पहले भी स्पष्ट कर चुका हूँ, आपके माध्यम से भी कह रहा हूँ की गदर-2 से मेरा कोई सम्बन्ध नही है, उसके बारे मे मै कुछ नही कह सकता.

पाकिस्तान में जयश्रीराम फिल्म के निर्देशक रमाकांत प्रसाद के बारे में क्या कहेंगे?
रमाकांत प्रसाद को मै भोजपुरी का शोमैन कहता हूँ और उसका सबूत हैं उनके साथ मेरी पिछली दो फिल्में – जिद्दी आशिक और गदर. जय श्री राम की शुरूआत एक सामान्य फिल्म के तौर पर हुई थी पर यह रमाकान्त जी ही थे जिन्होंने मुझे कहा कि सर यह फिल्म गदर से ऊपर सोच कर बनाइये और जब मैंने इसका फर्स्ट रश देखा तो मुझे ही यकीन हो गया कि यह एक बेहतरीन फिल्म बनी है.

फिल्म के नायक विक्रांत के बारे में क्या कहेंगे ?
जब मैने विक्रांत को लेकर फिल्म बनाने की योजना बनाई थी, उसी समय बहुत से लोग मुझे समझाने लगे थे कि मै गलत कर रहा हूँ, आज वही लोग विक्रांत के साथ काम करने को उत्सुक हैं, इसके बाद कहने को बचा ही क्या है ? पर्सनालिटी हो या अभिनय, डांस हो या एक्शन, अनुशासन हो या समर्पण, विक्रांत मे सारे गुण हैं, बस समय की बात थी और शायद वह मेरे माध्यम से आना था.

आपके बारे में कहा जाता है कि आप हल्के फुल्के माहौल में गंभीर काम कराना जानते हैं? क्या कहेंगे ?
मेरा मिजाज ही ऐसा है, कभी किसी चीज का प्रेशर नही लेता, सब काम आराम से करता हूं और नियत से हो या नियति से, ईश्वर का आशीर्वाद है कि सब अच्छे से हो जाता है.

आपकी फिल्म गदर से पवन सिंह को आयरन मैन की उपाधि मिली थी. पाकिस्तान में जयश्रीराम से क्या उम्मीद करें ?
पाकिस्तान में जय श्री राम से उम्मीद करता हूँ कि विक्रांत सिंह राजपूत को वो मुकाम हासिल होगा जो अभी तक नही हुआ था और अब उन्हे मै कोई उपाधि नहीं दूंगा, वो काम आप और दर्शक करेंगे.


(शशिकांत सिंह)

Leave a Reply