बहुरानी को मिला महिलाओं की भारी भीड़ का समर्थन

Anjana-Shubham-Bahurani
भोजपुरी सिनेस्टार शुभम तिवारी और भोजपुरी सिनेमा की हॉट केक कही जाने वाली अभिनेत्री अंजना सिंह फ़िल्म बहुरानी शुक्रवार 27 नवम्बर से बिहार और झारखण्ड में प्रदर्शित की है. जिसे महिलाओं की भारी भीड़ के साथ अभी भी देखा जा रहा है. इस फ़िल्म का फर्स्ट लुक और ट्रेलर देख कर ही फ़िल्म पंडितो ने अंदाज़ा लगा लिया था कि बहुरानी अंजना सिंह इस फ़िल्म में अपने अभिनय से भोजपुरी फ़िल्म जगत को अपना मुरीद बनाने वाली है और हुआ भी यही. साथ ही साथ फ़िल्म के नायक शुभम तिवारी के जीवन्त अभिनय ने सिनेप्रेमियों के दिल अलग मुकाम बनाने में कामयाब हो गए हैं. खलनायक बालेश्वर सिंह खूंखार लुक में दर्शकों के बीच अलग पहचान बना लिये हैं. इस फ़िल्म को देखने के लिए महिलाओं की भीड़ उमड़ पड़ी है. आमतौर पर भोजपुरी फिल्म देखने के लिए महिलाएं तभी सिनेमाघरों तक आती है जब उन्हें यह भरोसा हो जाता है की फ़िल्म महिलाओं को ध्यान में रखकर बनायी गयी है लेकिन अपने नाम और फ़िल्म के पोस्टर के कारण महिलाओं को आभास हो गया था की भोजपुरी की हॉट गर्ल अंजना बहुरानी में अपनी इमेज से कुछ विपरीत कर रही है. अंजना सिंह के अनुसार बहुरानी बिल्कुल ही साफ़ सुथरी एक पारिवारिक फ़िल्म है जिसमे वह फ़िल्म के टाइटल रोल यानि की बहुरानी की भूमिका में हैं जबकि शुभम तिवारी ने उनके पति का किरदार निभाया है . लोकगायक रवि राज दीपू फ़िल्म में उनके देवर जबकि पूनम दुबे उनकी प्रेमिका के किरदार में हैं . चर्चित खलनायक बालेश्वर सिंह फ़िल्म में बाहुबली ददन यादव के किरदार में हैं . अंजना सिंह के अनुसार लगभग 50 फिल्मों के अपने सफ़र में उन्होंने कुछ गिनी चुनी ही ऐसी फिल्में हैं जिनमे उनका किरदार इतना सशक्त रहा है. बहुरानी उन्ही में से एक है. अंजना ने निर्देशक पराग पाटिल की सराहना करते हुए कहा कि उन्होंने बहुरानी के किरदार को काफी मजबूत बनाया है जिसे देखकर महिलाओं को लगता है कि ये तो उन्ही के गाँव की बहु बेटी है. अंजना खुद कहती है बहुरानी मेरे दिल के करीब है इसीलिए वो चाहती है कि फ़िल्म को महिलायें ज्यादा से ज्यादा संख्या में जरूर देखें और उस धारणा को गलत साबित करें कि भोजपुरी फिल्म मात्र फ्रंट बेंचर्स के लिए बनायी जाती है.
महिला दर्शकों का कहना है कि वे अच्छी फिल्में देखना चाहती हैं लेकिन फिल्म के नाम पर कुछ भी परोसे जाने के कारण उनका रुझान भोजपुरी फिल्मों से हट गया है. उन्होंने आशा जताई है कि अब अच्छी महिला प्रधान फिल्में भी काफी संख्या में बनेंगी.
गौरतलब है कि महिला दर्शकों को सिनेमाघरों तक लाने के लिए बहूरानी के नायक शुभम तिवारी, नायिका अंजना सिंह, खलनायक बालेश्वर सिंह, अभिनेता राम मिश्रा, निर्माता शिवप्रकाश सरोज, निर्देशक पराग पाटिल सहित पूरी टीम बिहार में फ़िल्म रिलीज होने के पहले से ही और रिलीज के बाद भी कई दिन घूम घूम कर महिलाओं को फ़िल्म की जानकारी दिये. जिसकी वजह से महिला दर्शकों का हुजूम सिनेमाघरों में उमड़ पड़ा.
दिव्या इंटरप्राइजेज प्रस्तुत इस फिल्म के निर्माता बालेश्वर सिंह व शिव प्रकाश सरोज हैं. सह निर्माता कुंवर आदित्य सिंह इन्टरटेनमेंट है. पटकथा व निर्देशक पराग पाटिल हैं. लेखक शिव प्रकाश सरोज, संगीतकार राम परवेश व दामोदर राव, गीतकार राजेश मिश्रा, एस. के. चैहान, शिव प्रकाश सरोज हैं. छायांकन जगमिंदर सिंह, नृत्य अशोक-मयंक, मारधाड़ बाजी राव, संकलन अजय चैहान का है. फिल्म प्रचारक रामचन्द्र यादव हैं. मुख्य कलाकार शुभम तिवारी, अंजना सिंह, रविराज दीपू, पूनम दूबे, बालेश्वर सिंह, राम मिश्रा, मनोज टाईगर, सी पी भट्ट, बबलू यादव, जय प्रकाश सिंह, सुनीता सिंह, संजना सिंह, अमरेश त्रिपाठी, सीमा सिंह, दिव्या द्विवेदी, परी पाण्डेय, रोहित राज हैं.


(रामचन्द्र यादव)